Thursday, 21 June 2012

बचता रक्षा फंड, भरोसा तालिबान पर-

मौलाना मुलायम और दिग्गी राजा पाकिस्तान में प्रधानमंत्री पद के मजबूत उम्मीदवार

मेरी  टिप्पणी 
अच्छा भला विचार है, प्यारे मित्र हरेश ।
ममता इस प्रस्ताव को, करवाएगी पेश ।

करवाएगी पेश, देश फिर बने अखंडित ।
 मिटिहै झंझट क्लेश, एक से मुल्ला-पंडित।

  जागे हिन्दुस्थान, सुबह फिर इक अजान पर
बचता रक्षा फंड, भरोसा तालिबान पर ।।

6 comments:

  1. वाह रविकर जी वाह भई वाह .बहुत उत्तम विचार .इधर का भी क्लेश कटे ,उधर की भी राड़ मिटे .
    दिग्गी ओसामा बिन लादेन का मकबरा भी बनवा देंगे .खून खराबे में क्या रख्खा है .असल चीज़ है आज के दौर में शान्ति पूर्ण सह -अस्तित्व .

    ReplyDelete
  2. जागे हिन्दुस्थान, सुबह फिर इक अजान पर ।
    बचता रक्षा फंड, भरोसा तालिबान पर ।।

    bahut sateek..

    .

    ReplyDelete
  3. आपके मुंह में घी शक्कर .

    ReplyDelete
  4. आपके मुंह में घी शक्कर .कृपया यहाँ भी पधारें -


    ram ram bhai
    बृहस्पतिवार, 21 जून 2012
    सेहत के लिए उपयोगी फ़ूड कोम्बिनेशन
    सेहत के लिए उपयोगी फ़ूड कोम्बिनेशन

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (23-06-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!

    ReplyDelete