Follow by Email

Tuesday, 27 September 2011

पगड़ी के रोबोट, सहित सरकार हिलाया-



हाड़-माँस की पुत्तली, 'चिदविभरम', रोबोट |
रोटी में  ही  खोट है,  पोट  के  खाते  नोट |
Robot Man - vintage toy
पोट के खाते नोट, खोल  के  बाहर खाते |
मुद्रा पर कर चोट,  नोट  से  नजर चुराते  |
http://static.indianexpress.com/m-images/Sat%20May%2016%202009,%2017:23%20hrs/M_Id_79032_manmohan_sonia.jpg
पर रविकर अधिकार, सूचना से जो  पाया |
पगड़ी  के  रोबोट,  सहित सरकार हिलाया ||
GG=2G

10 comments:

  1. अच्छा, तो धुलाई जारी है।

    ReplyDelete
  2. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल बुधवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
    यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छी रचना।
    प्रसंगानुसार।

    ReplyDelete
  4. bahut achchi karari chot deti hui rachna.

    ReplyDelete