Follow by Email

Tuesday, 10 December 2013

करें इशारा आप, बैठ रेडी मधु-कोड़ा

कोड़ा की दरकार थी, दे कोड़ा फटकार |
आये सब औकात में, झाड़ू का आभार |

झाड़ू का आभार, कमल नैनों में गरदा |
पंजे की दरकार, हटा दे पीला परदा |

नहीं बने सरकार, भानुमति कुनबा जोड़ा |
करें इशारा आप, खड़ा रेडी मधु-कोड़ा ||

2 comments:

  1. बहुत सुंदर,यथार्थ का भाव लिए.

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर

    ReplyDelete