Follow by Email

Thursday, 28 June 2012

जील से होती जलन ।

चर्चित पोस्ट (1 Like = 5 My ImageViewww.hamarivani.comws)

जलते हम तो जील से, कारण हैं छत्तीस ।
पोस्ट ब्लैंक यह पोस्ट है, पर आँखे चौतीस ।

पर आँखे चौतीस, नहीं कुछ लेख लिखी है ।
मन को देती टीस, खीस ही ख़ास दिखी है ।

लम्बी डाक्टर फीस, बड़े गहरे ये खलते ।
रविकर इनसे रीस, तभी तो रहते जलते ।।


2 comments:

  1. लम्बी डाक्टर फीस, बड़े गहरे ये खलते ।
    रविकर इनसे रीस, तभी तो रहते जलते ।।waah kya bat hai....

    ReplyDelete
  2. रविकर जलता है तभी देता आँच प्रकाश
    ज़ील झील सी ही सदा देती शीतल आस॥

    ReplyDelete