Follow by Email

Friday, 16 March 2012

अब तो कुंडा राज, फतह नहले-दहले की-


अखिल विश्व में गूंजता, जब बरबंडी घोष ।
यू पी की बिगड़ी दशा, पर करते क्यूँ रोष ।

पर करते क्यूँ रोष, डूबती सदा तराई ।
नब्बे हैं बरबाद, करें दस यही पिटाई ।
 
डी पी यादव केस, इलेक्शन के पहले की ।
अब तो कुंडा राज, फतह नहले-दहले की ।।

2 comments:

  1. बढ़िया सर...
    अब कल सचिन के शतक पर....

    सादर.

    ReplyDelete
  2. यह यु. पि.भी गजब का है और न्यारे लोग !रविकर जी बहुत सुन्दर व्यंग !

    ReplyDelete