Follow by Email

Friday, 8 March 2013

लिए नौ लखा हार, सुरक्षा घेरा तोड़े -


छोड़े सज्जन शॉर्टकट, उधर भयंकर लूट |
देर भली अंधेर से, पकड़ें लम्बा रूट |

पकड़ें लम्बा रूट, बड़ी सरकार निकम्मी |
चुनो सुरक्षित मार्ग, सिखाते पापा मम्मी |

लिए नौ लखा हार, सुरक्षा घेरा तोड़े |
बाला लापरवाह, लुटा करके ही छोड़े || 

10 comments:

  1. वहुत सही दिशा में इंगित करती हुई कुण्डलिया!

    ReplyDelete
  2. बहुत ही सार्थक संदेश देती कुण्डलिया.

    ReplyDelete
  3. सुंदर कुंडलिया .....

    ReplyDelete
  4. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  5. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (10-03-2013) के चर्चा मंच 1179 पर भी होगी. सूचनार्थ

    ReplyDelete
  6. जिंदगी को आयाम देती चल रही है कुंडली सुंदर कुंडलिया

    ReplyDelete
  7. यह तो लगता है दिल्ली के ट्राफिक पुलिस का बच्चनिया सन्देश.

    सुंदर प्रस्तुति.

    महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
    Replies
    1. यह पंक्तियाँ दिल्ली पुलिस तो कह ही नहीं सकती-
      वह कोई शुभ-चिन्तक ही होगा -

      पकड़ें लम्बा रूट, बड़ी सरकार निकम्मी |
      चुनो सुरक्षित मार्ग, सिखाते पापा मम्मी |

      आभार आदरेया -

      Delete
  8. बहुत बढिया कुंडलियाँ ....
    इस पर भी एक नजर .....आपका स्वागत है ....
    http://shikhagupta83.blogspot.in/2013/03/blog-post_9.html

    ReplyDelete