Follow by Email

Friday, 3 August 2012

शिंदे हों या शरद, बैठ के ताको अम्बर -

दो नंबर के खेल में, मचती ठेलम-ठेल ।
बड़े खिलाड़ी दे रहे, दावेदारी पेल ।

दावेदारी पेल, यहाँ पर सब निश्चिन्तन ।
खानदान का खेल, नहीं होना कुछ मंथन ।

पी एम नंबर तीन, बगल का चौथा नंबर ।
  शिंदे हों या शरद, बैठ के ताको अम्बर ।। 

9 comments: