Follow by Email

Sunday, 5 August 2012

चर्चित चेहरे हेरिये - रविकर

 (1)

करे करिश्मा कपटमय, काबिल कृपण कृपाण ।
शिरोधार्य आदेश सब, जाहिल काहिल राड़ ||

(2) 

ऊपर छाई कालिमा, नीचे धवल झकास |
  राजा होता चित्त पट, वित्त बटुक के पास || 

(3)
 

जंतर मंतर फूंक दे, बचे धुआँ से नाक | 
 लाग-आग से के जरी, के कर होई धाक ||

(4)
 

कृष्ण लाल पीले हुवे, धुवें धुवें जब ख़्वाब |
तीर मार गिर से रहे, बची नहीं जब ताब ||

3 comments:

  1. जो 65 साल में नहीं हुआ वो चमत्कार अब तीन ​साल में होगा...लेकिन बड़ा सवाल है कि कैसे होगा ये ?

    ReplyDelete
  2. ✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮
    ~~♥ मित्रतादिवस की शुभकामनाएँ ! ♥~~
    ✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮✿⊱╮
    ________/)______./¯"""/')
    ¯¯¯¯¯¯¯¯¯\)¯¯¯¯¯'\_„„„„\)

    ReplyDelete
  3. बेहतरीन तथ्यात्मक दोहे ......बधाईयाँ , जी ......

    ReplyDelete