Follow by Email

Monday, 23 July 2012

करो हिफाजत आप, शाप जीवन पर तेरे -रविकर

पटना में गौहाटी  
भीड़-भाड पर मत करो, एतबार हे नार ।
पटना के दुर्दांत से, हारी यह सरकार ।

हारी यह सरकार, भीड़ क्यूँ नहीं डरेगी ।
हफ्तों बीते किन्तु, कान पे जूँ  न रेंगी ।

करो हिफाजत आप, शाप जीवन पर तेरे ।
कर रविकर को माफ़, अँधेरे दुनिया घेरे ।।

कार में बनी सी डी 
महिला आयोग हरकत में आई ।
 सरकार अभी भी पीड़िता का इन्तजार कर रही है ।
भीड़ देखती रही-
जानती रही कि क्या अनर्थ हो रहा है ।। 

11 comments:

  1. बढ़िया कविता कह रहे हैं आप रविकर जी

    ReplyDelete
  2. आज आम मज़दूर से लेकर ऊंचे ओह्देदारान तक वैचारिक असंतुलन के शिकार देखे जा सकते हैं. इन में से ज़्यादातर लोग बच सकते थे अगर उनकी परवरिश के वक़्त उनके माता पिता ने उनके मानसिक स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा होता. माँ की ज़िम्मेदारी बाप के मुक़ाबले थोड़ी ज्यादा है . सभी मर्द बचपन में अपनी माँ के प्रशिक्षण में रहते हैं. अगर माँ अपनी गोद के लाल को सही-ग़लत की तमीज़ दे और हमेशा इन्साफ़ करना सिखाये तो औरतों पर होने वाले ज़ुल्मों को रोका जा सकता है.

    ReplyDelete
  3. आपकी इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल २४/७/१२ मंगल वार को चर्चा मंच पर चर्चाकारा राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आप सादर आमंत्रित हैं

    ReplyDelete
  4. ये चिता को आग लगाने वाले कथित तारिये बिगडेल कपूत परिवार और समाज के लिए कलंक है .स्वर्ग का क्या घोर नरक का दरवाज़ा दिखलायेंगे ये माँ बाप को भी .

    ReplyDelete
  5. अजी कौन पूछता है इस दिखाऊ तीहल (महिला आयोग )को .अकेली दिल्ली क्या भाड़ झोंकेगी ?

    ReplyDelete
  6. अंधेरगर्दी चौपट राजा !!

    अपनी अपनी हिफाजत में लगे है सरकारी लोग
    देख देख कर मस्त हैं बचे हुवे बाकी लोग
    अंधेर गर्दी की हो गयी है चारों ओर मौज
    महिला आयोग भी कर रहा यात्रा का उपयोग
    गोहाटी जा कर कुछ दिन पहले ही आया है
    इस बार पटना से निमंत्रण उसने बनवाया है !!

    ReplyDelete